Wednesday, February 22, 2012

अवसान




ढला सूरज,
दिवस अवसान,
अल्प विराम !! 

हाईकू (कविता लिखने की जापानी पद्धति) शैली में

सोन चिरैया





सोन चिरैया,
बन-बन भटके,
कहाँ विराम !!